Share Market crash in India Why Share Market Crash |शेयर बाजार में क्यों आई इतनी तेज गिरावट कारण जानिए।क्यों गिरा शेयर मार्केट?

Share Market crash in India|Why Share Market Crash

Share Market crash in India Why Share Market Crash:

Table of Contents

शेयर बाजार में आज बड़ी गिरावट देखने को मिली।नतीजा यह हुआ की लार्ज कैप और मिड कैप दोनों ही कंपनियों के शेयर भरभराकर गिरने लगे।शेयर बाजार यानी (Stock Market) के लिए आज का दिन बेहद ही खराब रहा है ।green signal पर खुलने के बाद बाजार के दोनों इंडेक्स सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) पूरी तरह से crash हो गए।BSE का सेंसेक्स 700 अंक से ज्यादा फिसला, और NSE का निफ्टी इंडेक्स करीब 250 अंक फिसलकर close हुआ।Stock Market Crash होने के साथ ही लार्ज कैप और मिड कैप कंपनियों के 10 शेयर बुरी तरह से फिसले और अपने Investors का तगड़ा घाटा करा दिया।

कितना नुकसान हुआ??

इसमें टोटल 6लाख करोड़ का भारी नुकसान हुआ है।

वोडाफोन-आइडिया का शेयर तेजी से गिरा।

कारोबार के दौरान लार्ज कैप और मिड कैप दोनों ही सेक्टर की कंपनियों ने अपने Investors को बहुत बड़ा नुकसान कराया है। इसमें टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन-आइडिया का शेयर (Voda-Idea Share) सबसे ज्यादा फिसला। Vodafone Idea Ltd का स्टॉक 15.50 रुपये पर ओपन हुआ और अंत में 13.88% की बड़ी गिरावट के साथ 13.65 रुपये पर बंद हुआ. कंपनी का Market Cap भी घटकर 66,370 करोड़ रुपये हो गया। हाल ही में की यह सबसे बड़ी गिरावट मानी जाती है।

सेंसेक्स 790 points  और  निफ्टी 247 अंक टूटा

सबसे पहले बात करते हैं सेंसेक्स और निफ्टी की, तो बता दें BSE का 30 शेयरों वाला share तेजी के साथ 73,162.82 के लेवल पर ओपन हुआ था, लेकिन दिन का कारोबार खत्म होने पर ये 790.34 अंक या 1.08% टूटकर 72,304.88 के स्तर पर close हुआ। NSE Nifty की बात करें तो इसने कारोबार की शुरुआत 22,214.10 के लेवल की थी, लेकिन मार्केट बंद होने तक यह 21,951.15 के लेवल पर आ गया। निफ्टी में 247.20 अंक यानी 1.11% की गिरावट आई।

क्यों हुआ मार्केट क्रैश??/Reasons(Share Market crash in India Why Share Market Crash:):
1.ग्लोबल market बदलाव

चीन के संपत्ति क्षेत्र में उथल-पुथल के बीच हांगकांग में Hang Seng 1.5% गिर गया, जबकि शंघाई sank 1.9% गिर गया।

2.प्रॉफिट booking –

बहुत सारे investors हाल ही के week मैं buy deep और sell high ki स्ट्रैटजी को फॉलो कर रहे हैं ।इसकी वजह से investors ने अपना प्रॉफिट बुक करने का नतीजा मार्केट क्रैश हुआ।

3.Valuation
Valuation vs GDP अनुपात 120% से ऊपर बढ़ा। दिसंबर तिमाही के सत्र की समाप्ति के बाद, financial year 2025 के लिए उम्मीदें कुल मिलाकर ज्यादा नहीं बढ़ी।

4.सेबी हरकत में आया
SEBI Small and midcap segments मैं बढ़ते झाग की वजह से बाजार नियामक सेबी ने म्यूचुअल फंड हाउसों से सभी investors के हितों की रक्षा के लिए नीति बनाने को कहा है। सुझाए गए उपायों में पोर्टफोलियो पुनर्संतुलन आदि शामिल हैं। 

share market crash और भारत

भारत मैं आज ही नहीं बल्कि कई बार लोगों ने मार्केट को गिरते हुए देखा है।लोगो ने खुदके अरबों के नुकसान को इस दौरान देखा है।अब हम भारत मैं सबसे बड़े हुए तीन शेयर मार्केट के क्रैश को देखते है।आखिर यह क्रैश हुए क्यों इसके बारे मैं भी जानते है।

3 सबसे खराब स्टॉक मार्केट क्रैश

1.कोविड-19 महामारी (2020) का क्रैश

कोविड से ऐसा एक भी देश नही जो बच पाया है।इन दो सालो मैं लोगो ने बहुत कुछ झेला है।शेयर मार्केट मानो जैसे की एक ही हफ्ते में सेंसेक्स 13,985 अंक तक लुढ़क गया।इस दौरान कोविड मैं 23 मार्च, 2020 को, सेंसेक्स और निफ्टी ने अपनी सबसे बड़ी गिरावट का अनुभव किया, 13% से अधिक की गिरावट और निवेशकों की जेब से 13.95 लाख करोड़ रुपये का सफाया भी हो गया।इसकी शुरुआत बैंक के शेयरों मैं गिरावट के कारण हुई है।इस महामारी ने इसको और ही गंभीर बना दिया।
2.नोटबंदी (2016)

नोटबंदी ने लोगो को परेशान किया था उसके बाद शेयर मार्केट भी तेज़ी से गिरा ।
8 नवंबर, 2016 को घोषित विमुद्रीकरण के कारण नकदी संकट के बारे में चिंता पैदा हो गई, जिसका परिणाम ऐसा हुआ की बहुत जोर से शेयरों की बेतहाशा बिक्री हुई। अगले दिन, बाजार में जोरदार गिरावट आई, सेंसेक्स और निफ्टी 50 में चार दिनों में 6% से अधिक की गिरावट आई। 

3.हर्षद मेहता घोटाला (1992)

कोरोना के समय आई फिल्म scam film ने लोगों को इस घोटाले के बारे मैं समझ आया।
फिल्म के मुताबिक 23 अप्रैल, 1992 को पत्रकार सुचेता दलाल ने भारत के सबसे महत्वपूर्ण वित्तीय घोटाले का पर्दाफाश किया, जिससे उस दिन सेंसेक्स 570 अंको से गिर गया, यानी ~13% की भारी गिरावट। इस खुलासे ने निवेशकों के लगभग 4,000 करोड़ रुपये मिटा दिए, जो 1992 में काफी बड़ी रकम थी।इस बड़े घोटाले का देश के सभी जगह पर बहुत ही बड़ा असर पड़ा जिसको संभालने मैं कई साल चले गए।

देखिए

Leave a Comment