Shani Dev Aarti,Mantra all details,black temple |जरूर करे शनिदेव के मंत्र और आरती,हर मनोकामना होगी पूरी

Shani Dev Aarti,Mantra all details,black temple जरूर करे शनिदेव के मंत्र और आरती,हर मनोकामना होगी पूरी

Table of Contents

Shani Dev Aarti,Mantra all details,black temple जरूर करे शनिदेव के मंत्र और आरती,हर मनोकामना होगी पूरी |

शनिदेव एक ऐसे देवता है जो हमारे कर्मो का फल प्रदान करते है। इसलिए उनको कर्मप्रधान देवता भी कहते है।इस आर्टिकल मैं हम शनिदेव से जुड़े कुछ रहस्य और अधिक जानकारी आपको देंगे जिसे आपको भी पता नहीं होगा।

कथा शनिदेव जन्म की:

एक वक्त था जब सूर्य देव की पत्नी उनसे दूरी बना रही थी।उसके लिए वो मायके चली गई।मायके मैं जाने के बाद उसने अपना क्लोन बना लिया। उस अपने प्रतिमा का नाम छाया रखा।

उस छाया प्रतिबिंब को सूर्य देव की पत्नी ने समझाया की ,सूर्य देव को यह बात पता नहीं लगनी चाहिए की तुम मेरा प्रतिबिंब हो उनके आसपास नहीं हूँ| हुआ यह की सूर्य देव को पता नहीं चला की उनकी पत्नी उनके साथ नहीं है ,उनको लगा की वह छाया है | छाया को अपनी पत्नी समझ के छाया के साथ बच्चे किये उन मै से एक बच्चे का नाम शनि है |

छाया मतलब साया (shadow ) इसिलिए शनिदेव जो है जो की छाया के पुत्र है ,इसलिए काले है | आपने कभी तो सुना होगा आयी शनि की छाया -शनि की छाया वो छाया है जो शनि की माँ का नाम है |

आपने कभी तो सुना होगा आयी शनि की छाया -शनि की छाया वो छाया है जो शनि की माँ का नाम है |

हनुमान जी की पूजा :

अगर आप हनुमान जी के भक्त है तो माना जाता है की ,शनिदेव का प्रकोप mild होता है | इसलिए हर घर मै हनुमान जी की पूजा सबसे ज्यादा होती है | हर घर मै हनुमान चालिसा का पठान होता है क्योंकि शनिदेव हनुमान भक्त को उस level का नुकसान चाह कर भी नहीं पोहचा सकते |

शनि देव की मूर्ति और मंदिर हमेशा काले क्यों होते हैं?क्या है रहस्य?

उनकी माँ का नाम छाया है इसी के कारण उनका रंग कला है | इसलिए उनका मंदिर उनकी मूर्तियाँ काले रंग की होती है ,या काले पत्थर से बनाई जाती है |

शनिदेव 7.5 साल

यह myth है की शनिदेव की अगर छाया पड़ती है तो आपका नुकसान होता है | यह गलत MYTH है शनिदेव जब आपके पास आते है तो नुकसान और तकलिफे लेकर नहीं आते |

ऐसा माना जाता है की शनिदेव का जो काल होता है वो 7 .5 साल का होता है | यह काल 2.5 के तीन हिस्सों मै बाटा जाता है | यह तीन हिस्से आपके शरीर के तीन हिस्सों मै बाटे जाते है’|

पहला 2.5 साल: आपके शरीर के उपरी भाग मैं होता है |
जिस समय आप मानसिक स्थिति से झुंजते है | काम मै नुकसान होना ,परेशानी ,तकलीफे झेलना ,गुस्सा आना इसीलिए कभी कभी गुस्से मैं बोलकर रिश्ते ख़राब होते है | आपका मस्तिष्क आपको ऐसे चीज़ो से घेर देता है जिस्मे आपको HOPE कम दिखता है और निराशा है |

दूसरा 2.5 साल: चेस्ट से लेकर निचे के शरीर से जुड़ा रहता है |

इस समय पेट से रिलेटेड प्रोब्लेम्स होती है | आपको अच्छा खाने को मिलता है और पेट की समस्या होती है | पेट निकलने से बहुत ज्यादा समस्याएं होती है | OBESITY यह किंग है बिमारियों का |

तीसरा 2.5 साल :

जो निचे पैरों से जुड़ा होता है | पहले दो चरण मै जो भी नुकसान आपको हुआ उन सब से राहत मिलती है | खुशियाँ आपके पैरो मै आती है |

इस समय आपको मिलता है बहुत सारा सुख ,TRAVEL ,FLIGHTS ,ढेर पैसा |

7. 5 साल से कैसे बचे ??

शनिदेव को तेल चढ़ाते रहे और उनकी आरती का नित्य पठान करे इससे आपकी बहुत समस्या का निराकरण होगा |

शनिदेव की आरती :

शनिदेव की आरती| Shani Dev Aarti

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।

सूर्य पुत्र प्रभु छाया महतारी॥

जय जय श्री शनि देव….

श्याम अंग वक्र-दृष्टि चतुर्भुजा धारी।

नी लाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥

जय जय श्री शनि देव….

क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी।

मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥

जय जय श्री शनि देव….

मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी।

लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥

जय जय श्री शनि देव….

जय जय श्री शनि देव….

देव दनुज ऋषि मुनि सुमिरत नर नारी।

विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी॥

जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी।।

जय जय श्री शनि देव…

सामान्य मंत्र- ॐ शं शनैश्चराय नमः।

शनि महामंत्र- ॐ निलान्जन समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम। छायामार्तंड संभूतं तं नमामि शनैश्चरम॥

हनुमान मंत्र  | Hanuman Mantra

भय नाश करने के लिए हनुमान मंत्र  
हं हनुमंते नम:।

स्वास्थ्य के लिए
नासै रोग हरे सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा

संकट दूर करने का मंत्र
ॐ नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।

कर्ज मुक्ति के मंत्र 
ॐ नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा।


अन्य योजना आप यहां देख सकते है।
Chief Minister Ladli Behna Yojana

PM Surya Ghar Yojana 2024

Leave a Comment