23 Dog Breeds Banned in India |यह कुत्तों के 23 breeds ban हुए भारत मैं जानिए

23 Dog Breeds Banned in India |यह कुत्तों के 23 breeds ban हुए भारत मैं जानिए

23 Dog Breeds Banned in India |यह कुत्तों के 23 breeds ban हुए भारत मैं जानिए:

छोटे बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्गो तक हर किसीको कुत्ते पसंद है।हम सभी को भी पता है की कुत्ते जैसा ईमानदार प्राणी कोई नहीं है।इन्ही कुत्तों के बारे मैं पिछले कुछ दिनों में देशभर में कुत्तों के हमले और ऐसी घटनाओं में कई लोगों की जान जा चुकी है ऐसी न्यूज हम आजकल बहुत ही ज्यादा सुन रहे है।

ऐसे भी मामले हैं जहां घरेलू पालतू जानवर ने घर के सदस्यों पर हमला किया है। एक घटना में दुर्भाग्यवश एक महिला की मृत्यु हो गई।

ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए अब सरकार भी सक्रिय हो गई है।केंद्र सरकार ने 23 नस्ल के कुत्तों पर प्रतिबंध लगाने की सलाह दी है।
जानते है central government ने कौनसे 23 breeds पर लगाया है ban इस आर्टिकल मैं सभी details।

क्यों किया है ban 23 breeds को? Why 23 dog breeds got banned in India?

भारत मैं कुत्तों के शौकीन हर घर मैं हम देख सकते है।छोटे बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्गो तक हर कोई अलग अलग किस्म के कुत्ते घर मैं रखते है।हाल ही मैं सरकार ने बन कर दिया क्योंकी आजकल हम कुत्तों के हमले और ऐसी घटनाओं में कई लोगों की जान जा चुकी है ऐसी न्यूज हम आजकल बहुत ही ज्यादा सुन रहे है।

इतना खतरनाक हो चुका है की,काटने के बाद वैक्सीन लेकर भी कई लोगों ने अपनी जान गवाई है।सोशल मीडिया पर भी ऐसी घटनाओं के बहुत सारे केसेस के वीडियो और फोटो वायरल होते रहते हैं।इन्ही घटनाओं को देखते हुए सेंट्रल गवर्नमेंट ने 23 breeds को बैन करने का निर्णय लिया है।

कौनसे कुत्तों के breeds को सरकार ने किया ban जानिए

कुत्तों की इन प्रजातियों की ना सिर्फ बिक्री रोकी है सरकार ने ,बल्कि उनकी ब्रीडिंग और इम्पोर्ट पर भी बैन लगाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने पशु क्रूरता को रोकने के लिए डॉग ब्रीडिंग एंड मार्केटिंग रूल्स 2017 और पेट शॉप रूल्स 2018 को लागू करने को कहा गया है।

पिटबुल टेरियर्स

टोसा इनु

अमेरिकन स्टैफोर्डशायर

टेरियर

फिला ब्रासीलेरियो

डोगो अर्जेंटीनो

अमेरिकन बुलडॉग

बोअरबोएल

कांगल

टार्नजैक

बैंडोग

सरप्लानिनैक

जापानी टोसा

अकिता

मॉस्टिफ्स

राटविलर

रोडेशियन रिजबैक

कैनारियो

अकबाश और मास्को गार्डडॉग

वोल्फ डॉग

जर्मन शेफर्ड

पिटबुल कुत्ते की यह खास बात है की एकबार उसने कटा तो उसके जबड़े लॉक हो जाते है।जिनको निकालना बहुत ही मुश्किल काम होता है।

दिल्ली हाईकोर्ट का क्या है आदेश गवर्नमेंट को

दिल्ली हाई कोर्ट ने दिए आदेश पर गठित एक समिति ने केंद्र सरकार को सलाह दी है कि, विदेशी नस्ल के कुत्ते भारत की परिस्थितियों में उग्र हो जाते हैं।

समिति ने रिसर्च करके यह भी पाया की मिक्स और क्रॉस ब्रीड के कुत्तों में ज्यादा आक्रामकता का खतरा होता है।इसीलिए हाइकोर्ट ने सरकार को सलाह दी है बैन करने की अब ये पूरे भारत मैं लागू होगी।

Indian Spitz

ऊर्जावान और चंचल

भारतीय स्पिट्ज का जन्म19वीं सदी में हुआ है। साइंटिस्ट ने उन्हें जर्मन स्पिट्ज से प्रजनन करके पेश किया।
उनका जीवनकाल 12-14 वर्ष के बीच होता है।

आपने अगर हम आपके हैं कौन यह मूवी देखी है तो उसमें टफी को देखा होगा वही टफी की जो ब्रीड है वही ब्रीड यह है।इस फिल्म मैं टफी को देखने के बाद उसकी बिक्री बहुत ही तेजी से बढ़ गई है।

एक लोकप्रिय नस्ल बन गई।
भारतीय स्पिट्ज को लेने से पहले ध्यान रखने योग्य मुख्य बातें :

स्पिट्ज को नियमित रूप से उनका ध्यान रखना पड़ता है।जैसे की दात साफ करना हो या उनके बाल ठीक करना हो।नियमित ब्रश करना पड़ता हैं।

यह एक मिलनसार और बुद्धिमान प्राणी है।यह इतने सतर्क रहते है की उनकी सतर्कता ही उन्हें अच्छी निगरानी करने लायक बनाती है।

इनकी शक्ल लोमड़ी जैसी होती हैं।कान और पुछ मुड़ी हुई रहती है।

Rajpalayam राजपलायम


यह pure भारतीय नस्ल वाला कुत्ता हैं।इसकी उत्पत्ति भारत के तमिलनाडु मैं हुई है।
इनका नाम राजपलायम है उसके पीछे का कारण है कि उनकी उत्पत्ति राजपलायम मैं हुई है जो।की तमिलनाडु मैं स्थिति एक गांव है।

राजपलायम का जीवनमान 10 से 12 साल तक का होता है।
अगर इनके लुक की बात की जाए तो ये बहुत ही लंबे होते है ऊंट जैसे।उनकी नाक गुलाबी रंग की होती है जिसकी वजह से वह तुरंत ध्यान मैं आते है।

आमतौर पर यह उनके साहस के लिए फेमस है।यह उत्कृष्ट रक्षक के रूप मैं माने जाते है। स्वभाव आक्रामक रहता है लेकिन प्रशिक्षण से उसको ठीक किया जा सकता है।

जानिए PM Surya Ghar Yojana 2024 

ABHA CARD Details, apply, benefits of ABHA

Leave a Comment